कांग्रेस शुरू करेगी भारत जोड़ो यात्रा; पार्टी के भीतर सुधार के लिए गठित होगी टास्क फोर्स, सोनिया गांधी ने किए बड़े एलान

 



कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को चिंतन शिविर में कुछ महत्‍वपूर्ण घोषणाएं की।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को राजस्थान के उदयपुर में आयोजित चिंतन शिविर में कांग्रेस के भीतर सुधार शुरू करने के लिए टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की। साथ ही जनता से जुड़ने के लिए भारत जोड़ों यात्रा का एलान भी किया।

उदयपुर, एजेंसियां। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को राजस्थान के उदयपुर में आयोजित चिंतन शिविर में कुछ महत्‍वपूर्ण घोषणाएं की। उन्‍होंने कांग्रेस के भीतर सुधार शुरू करने के लिए टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की। साथ ही जनता से जुड़ने के लिए भारत जोड़ों यात्रा का एलान भी किया। उन्‍होंने कहा- हम दो अक्टूबर से गांधी जयंती के दिन कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ों यात्रा की शुरुआत करेंगे। इस यात्रा में सभी युवा और नेता शामिल होंगे।  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजस्थान के उदयपुर में पार्टी के तीन दिवसीय 'चिंतन शिविर' (विचार-मंथन शिविर) के अंतिम दिन अपने समापन भाषण में कहा कि एक हफ्ते के भीतर पार्टी में आंतरिक सुधारों के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा। दिन-प्रतिदिन के कामकाज में कांग्रेस अध्यक्ष को सलाह देने के लिए एक सलाहकार निकाय का भी गठन किया जाएगा।

कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कहा कि हम इस साल गांधी जयंती के मौके पर कन्याकुमारी से कश्मीर के लिए एक राष्ट्रीय भारत जोड़ा यात्रा शुरू करेंगे। हम सभी इसमें भाग लेंगे। यात्रा सामाजिक सद्भाव के बंधन को मजबूत करने के लिए है। हमारे संविधान के मूलभूत मूल्यों को संरक्षित करने के लिए है। यह यात्रा करोड़ों लोगों की दिन-प्रतिदिन की चिंताओं को उजागर करने के लिए है।

सोनिया गांधी ने कहा कि आंतरिक सुधारों की प्रक्रिया को चलाने के लिए एक काम्पैक्ट टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा जो आवश्यक है। इस पर अलग-अलग चर्चा की गई है। साल 2024 के लोकसभा चुनावों पर ध्यान केंद्रित करने वाले इन सुधारों में संगठन के सभी पहलुओं को शामिल किया जाएगा। इसमें पार्टी की संरचना, पार्टी पदों पर नियुक्तियों के नियम, संचार और प्रचार, वित्त और चुनाव प्रबंधन शामिल हैं।

सोनिया गांधी ने कहा कि टास्क फोर्स की संरचना कैसी होगी इस बारे में अगले दो-तीन दिनों में स्‍पष्‍ट हो जाएगा। गांधी ने कहा कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी जो पार्टी की सर्वोच्च निर्णय लेने वाली संस्था है... उससे जुड़ा एक सलाहकार समूह पार्टी के सामने राजनीतिक मुद्दों और चुनौतियों पर चर्चा करने के लिए उनकी अध्यक्षता में नियमित रूप से बैठक करेगा। सीडब्ल्यूसी की बैठकें भी पूर्ववत जारी रहेंगी। भले ही नया समूह सामूहिक निर्णय लेने वाला

निकाय नहीं है लेकिन वरिष्ठ सहयोगियों के अनुभव का लाभ उठाने में मेरी मदद करेगा।