दिल्ली एम्स के नवनिर्मित बर्न व प्लास्टिक सर्जरी सेंटर में इलाज शुरू, मरीजों को मिलेंगी ये सुविधाएं

 

इस सेंटर में छह आपरेशन थियेटर हैं, जिसमें से तीन आपरेशन थियेटर शुरू हो गए हैं।

डा. मनीष सिंघल ने कहा कि मार्च के मध्यम में इस सेंटर में बर्न के मरीजों का इलाज व प्लास्टिक सर्जरी शुरू कर दी गई। इसके बाद अब काफी संख्या में मरीज पहुंचने लगे हैं। एम्स में नई शुरुआत होने से मरीजों को काफी राहत मिलेगी।

नई दिल्लीA.k.Aggarwal । एम्स के ट्रामा सेंटर में नवनिर्मित बर्न व प्लास्टिक सर्जरी सेंटर में इलाज की पूरी सुविधा शुरू हो गई है। इमरजेंसी व आइपीडी (इनडोर पेसेंट डिपार्टमेंट) में बर्न के मरीज भर्ती लिए जाने लगे हैं। इसके अलावा ओपीडी में भी मरीज देखे जा रहे हैं। इस सेंटर इलाज की पूरी सुविधा शुरू होने से बर्न के मरीजों के इलाज का एक और बेहतर विकल्प मिल गया है। यह सफदरजंग अस्पताल के बर्न सेंटर के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा बर्न व प्लास्टिक सर्जरी सेंटर है।

एम्स के बर्न व प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डा. मनीष सिंघल ने कहा कि मुंडका में आग की घटना की सूचना मिलने पर बर्न व प्लास्टिक सर्जरी सेंटर में अलर्ट रखा गया था लेकिन इलाज के लिए कोई पहुंच नहीं पाया। यह सेंटर वर्ष 2020 में ही बनकर तैयार हो गया था लेकिन कोरोना के कारण उस वक्त शुरू नहीं हो पाया था। कोरोना की दूसरी लहर खत्म होने के बाद पिछले साल 18 जनवरी को बर्न व प्लास्टिक सर्जरी सेंटर में आंशिक रूप से इलाज की सुविधा शुरू हुई।

इसके करीब ढ़ाई महीने बाद ही दूसरी लहर में कोरोना के डेल्टा वायरस का संक्रमण शुरू होने पर इस सेंटर को भी कोविड अस्पताल बना दिया गया। डेल्टा का संक्रमण खत्म होने के बाद कोरोना के इलाज के लिए इसे तैयार रखा गया था। इस वजह से इसमें बर्न के मरीजों का इलाज व प्लास्टिक सर्जरी नहीं हो पा रही थी। डा. मनीष सिंघल ने कहा कि मार्च के मध्यम में इस सेंटर में बर्न के मरीजों का इलाज व प्लास्टिक सर्जरी शुरू कर दी गई। इसके बाद अब काफी संख्या में मरीज पहुंचने लगे हैं। 100 बेड की क्षमता वाले इस सेंटर में 30 आइसीयू बेड व 10 आइसोलेशन बेड है।

अभी शुरू नहीं हो पाए हैं तीन आपरेशन थियेटर: इस सेंटर में छह आपरेशन थियेटर हैं, जिसमें से तीन आपरेशन थियेटर शुरू हो गए हैं। इसलिए बर्न के मरीजों की सर्जरी की सुविधा भी शुरू हो गई है। तीन आपरेशन थियेटर अभी शुरू नहीं हो पाए हैं। दिल्ली में पहले बर्न के इलाज के लिए सफदरजंग, आरएमएल व लोकनायक अस्पताल में ही सुविधा थी। सफदरजंग अस्पताल का बर्न सेंटर में सबसे अधिक 108 बेड की सुविधा है। सिर्फ तीन अस्पतालों में बर्न के इलाज की व्यवस्था होने से सुविधाएं कम पड़ रही थी। इस वजह से एम्स में बर्न व प्लास्टिक सर्जरी सेंटर शुरू किया गया है।