आग की लपटों से घिरी पत्नी फोन पर बोली- 'कंपनी में आग लगी है मनोज... मर जाऊंगी बचा लो मुझे'

 

Delhi Mundka Fire Update:दास्तां सुनाते हुए रो पड़ा- 'कंपनी में आग लग गई है मनोज... मर जाऊंगी बचा लो मुझे'

Delhi Mundka Fire News दिल्ली के मुंडका इलाके में एक इमारत में आग लगने की घटना में अब तक 27 लोग जान गंवा चुके हैं तो 29 लापता है। इसके अलावा 12 झुलसे लोगों को विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

नई दिल्ली, संवाददाता। पश्चिमी दिल्ली के मुंडका इलाके में मेट्रो स्टेशन के पास स्थित चार मंजिला व्यावसायिक इमारत में शुक्रवार शाम को आग लगने से जहां 27 लोग जिंदा जल गए तो वहीं 12 झुलसे लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। इनमें से कई की हालत गंभीर है। इस बीच आग के इस हादसे के दौरान इमारत में मौजूद रहे 29 लोगों के लापता होने की जानकारी सामने आई है। इनमें 24 महिलाएं और 5 पुरुष शामिल हैं।

इन्हीं 29 लापता लोगों में से एक हैं मनोज की 31 वर्षीय पत्नी सोनी। मनोज और उनकी पत्नी मुंडला इलाके में रहते हैं और उनकी पत्नी इस चार मंजिला भवन में कार्यरत हैं। घटना के समय भी वह यहां पर मौजूद थीं, लेकिन मनोज की पत्नी शुक्रवार को इमारत में लगी आग के बाद से लापता हैं। वहीं, पति मनोज पत्नी सोनी की तलाश के लिए घटनास्थल से लेकर कई अस्पतालों के चक्कर लगा रहे हैं। 

जागरण संवाददाता भगवान झा से टेलीफोन पर बातचीत में मनोज ने बताया कि शुक्रवार शाम 4 बजकर 30 मिनट पर उनकी पत्नी सोनी से आखिरी बार बात हुई थी। इस दौरान पत्नी सोनी ने आग के हादसे को लेकर मोबाइल फोन पर जानकारी देते हुए बताया था- 'मनोज कंपनी में भीषण आग लग गई है। चारों ओर धुआं-धुआं है। इमारत के अंदर आग के लपटें नजर आ रही हैं। मुझे बचा लो वरना मैं मर जाऊंगी'

संजय गांधी अस्पताल से घटना स्थल तक कई चक्कर लगा चुके हैं मनोज

मनोज कहती हैं- 'मैं अपनी पत्नी से बहुत प्यार करता हूं। जैसे ही इमारत में आग लगी तो पत्नी सोनी ने मुझे मोबाइल पर फोन किया। वह डरी हुई थी। इस डर के दौरान उसने कहा कि मनोज यहां पर आग लग गई है। धुआं तेजी से फैल रहा है और आग की लपटें भी दिखाई दे रही है। मैं मर जाऊंगा... मुझे बचा लो।' 

पत्नी सोनी की तलाश में दर-दर भटक रहे मनोज ने बताया - 'मैं शुक्रवार शाम से घटना स्थल यानी इमारत के पास से संजय गांधी अस्पताल तक कई चक्कर लगा चुका हूं। कोई कुछ बताने के लिए तैयार नही हैं।'

मनोज कहते हैं कि एक अनजाना भय हर समय दिल में लगा हुआ है। मैं दुआ कर रहा हूं कि मेरी पत्नी ठीक हो। अगर कुछ अनहोनी हुई तो हमारा परिवार ही तबाह हो जाएगा।

यहां पर बता दें कि आग की चपेट में आने के बाद गंभीर रूप से जख्मी अब तक 100 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू कर लिया गया है। इनमें से कई लोगों को विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

गौरतलब है कि 4 मंजिला व्यावसायिक इमारत में लगने की घटना के मामले दिल्ली पुलिस ने कंपनी के मालिक हरीश गोयल और वरुण गोयल को पहले हिरासत में लिया फिर शुक्रवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, वरुण गोयल और सतीश गोयल को दिल्ली पुलिस ने गैर इरादतन हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है।