जेवर एयरपोर्ट को लेकर राकेश टिकैत ने रखी तीन शर्त, 9 जून के लिए किया बड़ा ऐलान

 

Noida News: ये यूपी का पांचवां अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा।

Noida News दोनों कंपनी के प्रतिनिधि जल्द ही औपचारिकताएं पूरी करने के बाद निर्माण कार्य शुरू करेंगे। एयरपोर्ट साइट में समतलीकरण और चारदीवारी का काम लगभग पूरा हो चुका है। किसान यूनियन ने 9 जून को निर्माण कार्य को रोकने तक का ऐलान कर दिया है। ै।

नोएडा, आनलाइन डेस्क। यूपी के पांचवें अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा जेवर एयरपोर्ट का निर्माण जल्द शुरु होने वाला है। लेकिन एयरपोर्ट का काम शुरू होने से पहले ही किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा ऐलान कर दिया है। भाकियू ने यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (Yamuna Authority) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा है। जिसमें तीन शर्त रखी गई हैं।

किसान यूनियन का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती हैं तो निर्माण कार्य की शुरुआत नहीं होने देंगे। इतना ही नहीं किसान यूनियन ने 9 जून को निर्माण कार्य को रोकने तक का ऐलान कर दिया है। 

किसे मिली जेवर एयरपोर्ट के निर्माण की जिम्मेदारी

जेवर एयरपोर्ट के निर्माण के लिए यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) को वर्किंग एजेंसी के रूपए नियुक्‍त किया गया है और विकसित करने की जिम्‍मेदारी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को सौंपी गई है।

कितनी लागत से बनेगा जेवर एयरपोर्ट 

अब जब इतना भव्‍य एयरपोर्ट बन रहा है तो जाहिर सी बात है कि इस पर पैसे भी खूब खर्च होंगे। इसके निर्माण के लिए उत्‍तर प्रदेश सरकार ने फरवरी 2021 में 2,000 करोड़ रुपए के बजट का ऐलान किया था। इसे पूरा होने में लगभग 29 हजार 650 करोड़ रुपये की लागत आ सकती है।

कितनी जमीन पर बन रहा जेवर एयरपोर्ट?

जेवर एयरपोर्ट का निर्माण 5,845 हेक्टेयर जमीन पर हो रहा है। यहां से एक साथ कम से कम 178 विमान उड़ान भर सकेंगे। हालांकि पहले चरण में इसका निर्माण 1334 हेक्टेयर जमीन पर होगा। निर्माण कार्य चार चरणों में पूरा होगा।