कश्मीर की स्थिति पर गृहमंत्री अमित शाह की एनएसए और रा प्रमुख के साथ बैठक, सुरक्षा स्थितियों पर मंथन

 

कश्मीर में हिंदू कर्मचारी की हत्या के कुछ घंटों बाद ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक बैठक की।

कश्मीर में गुरुवार को हिंदू बैंक कर्मचारी की हत्या के कुछ घंटों बाद ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शीर्ष अधिकारियों के साथ एक बैठक की। इन अधिकारियों में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रा) के प्रमुख सामंत गोयल शामिल थे।

नई दिल्ली, पीटीआइ/जेएनएन। कश्मीर में गुरुवार को हिंदू बैंक कर्मचारी की हत्या के कुछ घंटों बाद ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शीर्ष अधिकारियों के साथ एक बैठक की। इन अधिकारियों में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रा) के प्रमुख सामंत गोयल शामिल थे। बैठक में जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की गई। खास बात यह है कि यह बैठक जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति पर शुक्रवार को होने वाली उच्चस्तरीय बैठक से पहले हुई है।

अधिकारियों ने बताया कि कोविड महामारी के कारण दो साल बाद हो रही वार्षिक अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा प्रबंधों का भी बैठक में जायजा लिए जाने की उम्मीद है। मालूम हो कि मई में आयोजित पिछली बैठक में शाह ने समन्वित आतंकरोधी अभियान चलाने पर जोर दिया था। उन्होंने सुरक्षा बलों को सीमापार से घुसपैठ पूरी तरह रोकने और केंद्र शासित प्रदेश से आतंकवाद का पूरी तरह सफाया करने के निर्देश दिए थे।

कुलगाम में शाखा प्रबंधक की हत्या

इस बीच श्रीनगर कश्मीर में शांति बहाली के प्रयासों में खलल डालने के लिए पाकिस्तान परस्त आतंकियों ने कुलगाम में देहाती बैंक के शाखा प्रबंधक की गोली मारकर हत्या कर दी। 26 वर्षीय विजय कुमार राजस्थान के हनुमानगढ़ में भगवानपुरा के रहने वाले थे। आतंकियों ने उन्हें उस समय गोली मारी जब वह बैंक शाखा में ड्यूटी पर थे। आतंकी संगठन कश्मीर फ्रीडम फाइटर्स ने हत्या की जिम्मेदारी ली है। बता दें कि बीते 22 दिनों में यह सातवीं टारगेट किलिंग है।

22 दिन में सात टारगेट किलिंग

12 मई : आतंकियों ने बड़गाम के चाडूरा में कश्मीरी हिंदू क्लर्क राहुल भट्ट की आफ‍िस में हत्या कर दी थी।

13 मई : पुलवामा में पुलिसकर्मी रियाज अहमद ठोकर अपने घर के बाहर आतंकी हमले में बलिदान हो गए थे।

18 मई : बारामुला में आतंकियों ने ग्रेनेड हमला किया, जिसमें सुंदरबनी के रंजीत सिंह की मौत हो गई थी।

24 मई : श्रीनगर के सौरा इलाके में आतंकियों ने पुलिसकर्मी सैफ कादरी की घर के बाहर हत्या कर दी थी।

25 मई : बड़गाम के हुशरु में आतंकियों ने महिला टीवी कलाकार अमरीना बट की हत्या कर दी।

25 मई : बारामुला के शराकवारा में पुलिसकर्मी मुदस्सिर अहमद एक मुठभेड़ में बलिदान हो गए थे।

31 मई : कुलगाम में दलित अध्यापिका रजनी बाला की हत्या।

02 जून : कुलगाम में देहाती बैंक की शाखा में आतंकी ने बैंक प्रबंधक विजय कुमार की गोली मारकर हत्या।

हताश आतंकी संगठन ने दी गीदड़भभकी

कश्मीर फ्रीडम फाइटर्स ने इंटरनेट मीडिया पर अपना बयान जारी कर बैंक शाखा प्रबंधक विजय कुमार की हत्या की जिम्मेदारी ली है। आतंकी संगठन ने गीदड़भभकी दी है कि जो भी कश्मीर के बहुसांख्यिकी चरित्र को बदलने में शामिल होगा, उसे अपनी जान गंवानी पड़ सकती है। यह हत्या उन गैर स्थानीय लोगों के लिए चेतावनी है जो यह सोचते हैं कि सरकार उन्हें कश्मीर में बसाएगी।