अफगानिस्तान में पाक के हवाई हमले से राजनयिक विवाद, तालिबान ने की निंदा; काबुल में पाक राजदूत को किया तलब

 

अफगानिस्तान में पाक के हवाई हमले से राजनयिक विवाद

बीते 16 अप्रैल को अफगानिस्तान में पाकिस्तान के हवाई हमले ने दोनों देशों के बीच एक राजनयिक विवाद पैदा कर दिया है। इस पाकिस्तानी हमले में बीस बच्चों समेत 45 लोग मारे गए थे। इस हमले को अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करार दिया गया था।

काबुल, एएनआइ।  अफगानिस्तान के क्षेत्र में बीते 16 अप्रैल को पाकिस्तान के हवाई हमले ने दोनों देशों के बीच एक राजनयिक विवाद पैदा कर दिया है। हवाई हमले से अंतरराष्ट्रीय कानून का घोर उल्लंघन किया गया। अफगान डायस्पोरा नेटवर्क में हामिद पख्तीन लिखते हैं कि ये हवाई हमले तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) या पाकिस्तानी तालिबान के 'हिंसक कृत्यों' के प्रतिशोध में किए गए थे। पाकिस्तान की इस अचानक कार्रवाई में 45 लोग मारे गए थे, जिनमें 20 बच्चे शामिल थे। अफगानिस्तान की तालिबान सरकार ने हवाई हमले की कड़ी निंदा की और काबुल में पाकिस्तान के राजदूत को उसे एक आपत्तिपत्र सौंपने के लिए समन जारी किया। 

मरान, उनकी पत्‍‌नी व दोस्त पर लगाया अरबों के भ्रष्टाचार का आरोप

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम-नवाज ने दावा किया है पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान, उनकी पत्‍‌नी बुशरा बीबी व उनकी दोस्त फराह गोगी की तिकड़ी ने सत्ता के दौरान अवैध से अरबों रुपये की कमाई की है। पीएमएल-नवाज के नेता अताउल्लाह तरार ने आरोप लगाया कि यह खेल 2019 में तब शुरू हुआ जब तत्कालीन पीएम इमरान खान ने फरार के पति अहसान जमाली गुर्जर को माफी योजना के तहत 32 करोड़ रुपये की राहत दी। तरार ने इसको लेकर एक आडियो टेप भी चलाया और दावा किया कि इसमें एक बिजनेस कारोबारी और उसकी बेटी की बातचीत है जिसमें वे बदले में इमरान की पत्‍‌नी को उपहार स्वरूप पांच कैरट हीरे की अंगूठी देने की बात कह रहे हैं।

इमरान ने सेना से पूछा, साजिश से देश को क्यों नहीं बचाया

 पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान ने शनिवार को सैन्य प्रतिष्ठान पर कटाक्ष करते हुए उनसे पूछा कि उन्होंने उनकी सरकार को गिराने के लिए रची गई साजिश के खिलाफ देश का बचाव क्यों नहीं किया। गवर्नमेंट टेक्निकल कॉलेज वारी के मैदान में एक रैली को संबोधित करते हुए हालांकि इमरान ने सेना को तटस्थ बताते हुए दावा किया कि उनकी सरकार को हटाने के पीछे अमेरिकी षड्यंत्र थ

ा।