सिद्धू मूसेवाला के पिता ने की अमित शाह से मुलाकात, सीबीआइ जांच की मांग, चुनावी चर्चाओं को भी दिया विराम, पढ़ें क्या कहा

 



Sidhu Moose Wala Murder Case पंजाब गायक सिद्धू मूसेवाला की हाल ही में हत्या कर दी गई। मूसेवाला का परिवार आज चंडीगढ़ में गृह मंत्री अमित शाह से मिला और मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की ।

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। भाजपा के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह चंडीगढ़ पहुंच गए हैं। शाह से हाल ही में मारे गए पंजाबी गायक सिदधू मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने मुलाकात की और मूसेवाला मर्डर केस की निष्पक्ष जांच की मांग की।

इस मौके पर पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी मौजूद रहे। बता दें, सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा में हत्या कर दी गई थी। परिवार ने पंजाब सरकार से मामले की जांच सिटिंग जज से करवाने की मांग की थी। 

भगवंत मान सरकार ने मामले की जांच सिटिंग जज से कराने के लिए मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखा था, लेकिन बताया जा रहा है कि मुख्य न्यायाधीश ने पंजाब सरकार की मांग को ठुकरा दिया है। मामले में मूसेवाला के परिवार ने आज गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है। 

बताया जा रहा है कि मूसेवाला के परिवार ने अमित शाह से मामले की सीबीआइ जांच की मांग की है। बता दें, मूसेवाला की हत्या के बाद पंजाब की भगवंत मान सरकार पर भाजपा सहित अन्य विपक्षी दल हमलावर रहे हैं। 

दरअसल, जिस दिन सिद्धू मूसेवाला की हत्या हुई उससे दो दिन पहले ही पंजाब सरकार ने मूसेवाला की सुरक्षा में कमी कर दी थी। पंजाब सरकार पर आरोप लगे कि सुरक्षा में कमी के कारण उनकी हत्या हुई है। पंजाब सरकार ने राज्य में और भी वीवीआइपी की सुरक्षा में कमी कर दी थी। इस कारण मामले में राजनीति गरमा गई। 

राजनीति गरमाने के बाद पंजाब सरकार ने कहा कि सात जून तक सभी वीवीआइपी की सुरक्षा बहाल कर दी जाएगी। यहां यह भी बता दें कि सिद्धू मूसेवाला की जब हत्या हुई तब उनके साथ कोई भी सुरक्षाकर्मी मौजूद नहीं था। वह अपने साथ न निजी सुरक्षाकर्मी ले गए थे और न सरकारी। 

मेरे बेटे की चिता भी ठंडी नहीं हुई, नहीं लड़ूंगा चुनाव

केंद्रीय मंत्री से मुलाकात के बाद भावुक नजर आ रहे बलकौर सिंह से जब यह पूछा गया कि कुछ पार्टियों के नेता उन्हें संगरूर से संसदीय चुनाव लड़ने की बात कह रहे हैं तो उन्होंने कहा कि अभी तो मेरे बेटे की चिता भी ठंडी नहीं हुई है। मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा।