देशभर में खुलेंगे अब पीएम श्री स्कूल जानिए इनमें क्या होगा खास



केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि देशभर खोले जाएंगे पीएम श्री स्कूल

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को कहा कि सरकार पीएम श्री स्कूल स्थापित करने की प्रक्रिया में है। केंद्रीय मंत्री के अनुसार पीएम श्री स्कूल छात्रों के उज्जवल भविष्य को लेकर खोले जाएंगे जो आधुनिक सुविधाओं से युक्त होंगे और नेशनल एजुकेशन पॉलिसी की प्रयोगशाला होंगे।

नई दिल्ली, एजेंसी। केंद्र सरकार की ओर से देश में शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। हाल ही नई शिक्षा नीति को भी लागू किया गया है, जिसमें आधुनिक शिक्षा पर जोर दिया जा रहा है। इसी क्रम में अब देशभर में पीएम श्री स्कूल खोले जाने हैं। पीएम श्री स्कूल के जरिए शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाए जाने की योजना है। दरअसल, केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को कहा कि सरकार पीएम श्री स्कूल स्थापित करने की प्रक्रिया में है। केंद्रीय मंत्री के अनुसार, पीएम श्री स्कूल छात्रों के उज्जवल भविष्य को लेकर खोले जाएंगे, जो आधुनिक सुविधाओं से युक्त होंगे और नेशनल एजुकेशन पॉलिसी की प्रयोगशाला होंगे।

ऐसे में सवाल है कि इन स्कूलों में क्या खास होगा और विद्यार्थियों को कौन सी सुविधाएं दी जाएगी। इसके अलावा जानते हैं कि सरकार के इस प्रोजेक्ट में क्या खास होगा और इस प्रोजेक्ट को लेकर सरकार की ओर से क्या दावे किए जा रहे हैं।

राज्यों से मांगे गए हैं सुझाव

बता दें कि अभी इन स्कूलों को लेकर कई जानकारी आना बाकी है और अभी सरकार की ओर से ये पहल है, जिसे लेकर पूरी भूमिका जल्द ही बनाई जाएगी। पीएम श्री स्कूलों को शिक्षा के लिए किस तरह से खास बनाया जा सकता है, इसके लिए केंद्र सरकार ने सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और शैक्षणिक तंत्र की ओर से सुझाव देने के लिए कहा गया है। इन सुझावों को ध्यान में रखते हुए प्रोजेक्ट या प्लान में बदलाव किए जाएंगे और उसी तरह से स्कूलों का निर्माण किया जाएगा।

नई दिल्ली, एजेंसी। केंद्र सरकार की ओर से देश में शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। हाल ही नई शिक्षा नीति को भी लागू किया गया है, जिसमें आधुनिक शिक्षा पर जोर दिया जा रहा है। इसी क्रम में अब देशभर में पीएम श्री स्कूल खोले जाने हैं। पीएम श्री स्कूल के जरिए शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाए जाने की योजना है। दरअसल, केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को कहा कि सरकार पीएम श्री स्कूल स्थापित करने की प्रक्रिया में है। केंद्रीय मंत्री के अनुसार, पीएम श्री स्कूल छात्रों के उज्जवल भविष्य को लेकर खोले जाएंगे, जो आधुनिक सुविधाओं से युक्त होंगे और नेशनल एजुकेशन पॉलिसी की प्रयोगशाला होंगे।

ऐसे में सवाल है कि इन स्कूलों में क्या खास होगा और विद्यार्थियों को कौन सी सुविधाएं दी जाएगी। इसके अलावा जानते हैं कि सरकार के इस प्रोजेक्ट में क्या खास होगा और इस प्रोजेक्ट को लेकर सरकार की ओर से क्या दावे किए जा रहे हैं।

राज्यों से मांगे गए हैं सुझाव

बता दें कि अभी इन स्कूलों को लेकर कई जानकारी आना बाकी है और अभी सरकार की ओर से ये पहल है, जिसे लेकर पूरी भूमिका जल्द ही बनाई जाएगी। पीएम श्री स्कूलों को शिक्षा के लिए किस तरह से खास बनाया जा सकता है, इसके लिए केंद्र सरकार ने सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और शैक्षणिक तंत्र की ओर से सुझाव देने के लिए कहा गया है। इन सुझावों को ध्यान में रखते हुए प्रोजेक्ट या प्लान में बदलाव किए जाएंगे और उसी तरह से स्कूलों का निर्माण किया जाएगा।

इन स्कूलों में क्या होगा खास?

अब बात करते हैं कि इन स्कूलों में क्या खास होने वाला है। केंद्रीय मंत्री की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, इन स्कूलों को आधुनिक सुविधाओं से युक्त किया जाएगा। इन स्कूलों की खास बात ये होगी कि इसमें सभी भाषाओं पर जोर दिया जाएगा, क्योंकि सरकार के अनुसार, कोई भी भाषा हिन्दी या अंग्रेजी से कमतर नहीं है। इन स्कूलों को मॉडल स्कूल की ओर तैयार किया जाएगा और स्कूलों का नाम पीएम श्री स्कूल होगा। इन स्कूलों में सिर्फ किताबी शिक्षा ही नहीं दी जाएगी, बल्कि इसके साथ ही स्किल एजुकेशन पर भी खास ध्यान दिया जाएगा।

बता दें कि हाल ही में जारी हुई शिक्षा नीति में 10+2 के स्थान पर 5+3+3+4 सिस्टम पर जोर दिया गया और इन स्कूलों में इसके आधार पर पढ़ाई करवाई जाएगी।  इसके अलावा इन स्कूलों पर डिजिटल शिक्षा पर भी काफी जोर दिया जाएगा. वहीं, शिक्षा को ग्लोबल बनाने के लिए हमारे ई-कंटेंट विकसित करने की कोशिश की जाएगी।

जानें- क्या है 5+3+3+4 वाला फारमेट

इन स्कूलों में क्या होगा खास?

अब बात करते हैं कि इन स्कूलों में क्या खास होने वाला है। केंद्रीय मंत्री की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, इन स्कूलों को आधुनिक सुविधाओं से युक्त किया जाएगा। इन स्कूलों की खास बात ये होगी कि इसमें सभी भाषाओं पर जोर दिया जाएगा, क्योंकि सरकार के अनुसार, कोई भी भाषा हिन्दी या अंग्रेजी से कमतर नहीं है। इन स्कूलों को मॉडल स्कूल की ओर तैयार किया जाएगा और स्कूलों का नाम पीएम श्री स्कूल होगा। इन स्कूलों में सिर्फ किताबी शिक्षा ही नहीं दी जाएगी, बल्कि इसके साथ ही स्किल एजुकेशन पर भी खास ध्यान दिया जाएगा।

बता दें कि हाल ही में जारी हुई शिक्षा नीति में 10+2 के स्थान पर 5+3+3+4 सिस्टम पर जोर दिया गया और इन स्कूलों में इसके आधार पर पढ़ाई करवाई जाएगी।  इसके अलावा इन स्कूलों पर डिजिटल शिक्षा पर भी काफी जोर दिया जाएगा. वहीं, शिक्षा को ग्लोबल बनाने के लिए हमारे ई-कंटेंट विकसित करने की कोशिश की जाएगी।

जानें- क्या है 5+3+3+4 वाला फारमेट

बता दें कि नई शिक्षा नीति में 10+2 के फार्मेट को पूरी तरह खत्म कर दिया गया था। अब इसे 10+2 से बांटकर 5+3+3+4 फार्मेट में ढाला गया है। इसका मतलब है कि अब स्कूल के पहले पांच साल में प्री-प्राइमरी स्कूल के तीन साल और कक्षा 1 और कक्षा 2 सहित फाउंडेशन स्टेज शामिल होंगे। फिर अगले तीन साल को कक्षा 3 से 5 की तैयारी के चरण में विभाजित किया जाएगा। इसके बाद में 3 साल मध्य चरण (कक्षा 6 से 8) और माध्यमिक अवस्था के चार साल (कक्षा 9 से 12) होंगे।