सत्येंद्र जैन के बाद अरविंद केजरीवाल ने क्यों की मनीष सिसोदया की गिरफ्तारी की 'भविष्यवाणी' जानिये- पूरा मामला

अरविंद केजरीवाल ने क्यों की मनीष सिसोदया की गिरफ्तारी की 'भविष्यवाणी' जानिये- पूरा मामला

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उन्हें विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि अगले कुछ दिनों में केंद्र सरकार मनीष सिसोदिया को भी गिरफ्तार करने जा रही है। जैसे सत्येंद्र जैन के खिलाफ फर्जी केस किया है वैसे ही ये मनीष सिसोदिया के खिलाफ भी फर्जी केस बना रहे हैं।

नई दिल्ली surender Aggarwal । मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के बाद अब केंद्र सरकार उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को भी झूठे केस लगाकर जेल भेजने की साजिश कर रही है। केंद्र सरकार ने जांच एजेंसियों को सिसोदिया के खिलाफ कोई न कोई फर्जी केस तैयार करने के लिए कहा है। सीएम ने कहा कि दरअसल, ये लोग सत्येंद्र और मनीष को फर्जी मामले में जेल में डाल दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में हो रहे अच्छे कामों को रोकना चाहते हैं। दरअसल, जनवरी, 2022 में अरविंद केजरीवाल ने सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी की एक तरह भविष्यवाणी की थी और अब मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी का दावा भी किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा, पूरा विश्वास है कि एक बार फिर हम प्रधानमंत्री से देश की सबसे ईमानदार और देशभक्त पार्टी का सर्टिफिकेट लेकर जाएंगे। बृहस्पतिवार को पत्रकार वार्ता में केजरीवाल ने कहा, मैंने कुछ महीने पहले ही बता दिया था कि केंद्र सरकार सत्येंद्र जैन को एक फर्जी केस में गिरफ्तार करने वाली है। 

जानिये-  क्या है पूरा मामला, जिसमें लगा है मनीष सिसोदिया पर आरोप

दरअसल, आतिशी ने एक कथित दस्तावेज दिखाकर कहा था कि भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) ने भाजपा की दिल्ली इकाई के नेताओं हरीश खुराना और नीलकांत बख्शी से उनके द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के सिलसिले में अतिरिक्त ब्योरा और दस्तावेज मांगे थे।

इसके साथ ही आतिशी ने यह भी कहा था कि हरीश खुराना और नीलकांत बख्शी ने शिकायत की थी कि मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन विद्यालय कक्षाओं और भवनों के निर्माण में 2000 करोड़ रुपए के घोटाले में शामिल थे। यह शिकायत नई दिल्ली के पुलिस उपायुक्त को 2 जुलाई, 2019 को की गई थी, जिसे एसीबी के पास भेजा गया था।

जितनी रेड करनी है, रेड कर लो, ताकि उसके बाद हम काम कर सकें

वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि मेरी प्रधानमंत्री से हाथ जोड़कर विनती है कि एक-एक करके जेल में डालने की बजाय आप आम आदमी पार्टी के सभी मंत्रियों और सभी विधायकों को एक साथ जेल में डाल दीजिए। सारी जांच एजेंसियों को बोल दीजिए कि एक साथ सारी जांच कर ले।

आप एक-एक मंत्री को गिरफ्तार करते हो, इससे जनता के काम में बाधा होती है। सत्येंद्र जैन दिल्ली में कई और मोहल्ला क्लीनिक बनवा रहे थे। वे दिल्ली में पानी और बढ़ाने के लिए कई नए प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे। यमुना की सफाई पर काम कर रहे थे। अब वो सारे प्रोजेक्ट धीमे पड़ जाएंगे।

जिस केस में उन्हें गिरफ्तार किया है, उसकी जांच पहले ही सीबीआई और इनकम टैक्स वाले कर चुके हैं, उन्हें कुछ नहीं मिला। क्योंकि केस तो फर्जी है, उसमें कुछ है ही नहीं। अब उसी केस की जांच दोबारा ईडी कर रही है। एक-एक केस को कई-कई साल तक अलग-अलग एजेंसी बस जांच ही करती रहेंगी क्या? तो फिर हम लोग जनता के काम कब करेंगे? जितनी रेड करनी है, रेड कर लो। लेकिन एक साथ कर लो, ताकि उसके बाद हम काम कर सकें।