तकनीक संग बढ़ाएं कदम, जानें AI में क्‍या हैं करियर की संभावनाएं; आकर्षक सैलरी

 

जानें, एआइ में करियर की संभावनाओं के बारे में...

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ) तकनीक ने काम को आसान करने के साथ-साथ करियर के नये द्वार भी खेल दिए हैं। इंटरनेशन डाटा कारपोरेशन की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2025 तक देश में एआइ मार्केट 20 फीसद की दर से बढ़ने की उम्‍मीद की जा रही है।

आज के समय में एआइ न सिर्फ एक डिमांडिंग तकनीक है, बल्कि एक अद्भुत तकनीक है। जो कभी सोचा भी नहीं गया था, वह भी आज इस तकनीक से संभव हो जा रहा है। वैसे तो अभी इस तकनीक का सबसे अधिक इस्‍तेमाल आइटी, बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज, टेलीकम्‍युनिकेशंस, मीडिया या रिटेल्‍स से जुड़े क्षेत्रों में ही अधिक हो रहा है। लेकिन माना जा रहा है कि जल्‍द ही आने वाले समय में इस तकनीक का दखल मैन्‍युफैक्‍‍चरिंग के अलावा, एग्रीकल्चर, माइनिंग, एजुकेशन, हेल्‍थ, साइबर सिक्‍युरिटी, मेडिकल जैसे एरिया में काफी देखने को मिलेगा। जाहिर है इससे इसके जानकारों के लिए करियर के काफी अवसर भी होंगे।

एआइ के बारे में अगर संक्षेप में समझें, तो यह मशीनों को, विशेषकर कंप्‍यूटर प्रोग्रामों के माध्‍यम से इंटेलिजेंट बनाने का एक विज्ञान है। रोबोट इसी विज्ञान की उपज है, जो आज घर-आफिस से लेकर बहुत सारे काम इंसानों की तरह की करने में सक्षम है। गूगल असिस्टेंट (मोबाइल पर वायस बेस्‍ड सर्च) या अलेक्‍सा (अमेजन सर्च असिस्‍टेंट) भी इसी तकनीक की खोज है, जो इंसानों की तरह बातचीत करता है। सिर्फ यही नहीं, हमारे जीवन को आसान बनाने वाली बहुत सी चीजों में यह तकनीक शामिल होती जा रही है। यहां तक कि समय के साथ स्‍मार्ट और इंटेलिजेंट बनने के लिए सीखने के पैटर्न विकसित करने में भी इसका इस्‍तेमाल होने लगा है।

करियर विकल्‍प: इस फील्‍ड में विभिन्न पृष्‍ठभूमि के लोगों के लिए करियर विकल्‍प उपलब्‍ध हैं। अगर आपने इंजीनियरिंग या कोई अन्‍य तकनीकी पढ़ाई कर रखी है, तो यहां कुछ स्‍पेशलाइजेशन करके एआइ स्‍पेशलिस्‍ट, एआइ एडवाइजर, मशीन लर्निंग इंजीनियर, डाटा साइंटिस्‍ट, आइओटी स्‍पेशलिस्‍ट, बिजनेस इंटेलिजेंस डेवलपर, बिग डाटा आर्किटेक्‍ट जैसे रूपों में अपना करियर शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा, अगर आप इस तकनीक के जानकार हैं, तो गेम प्रोग्रामर, रोबोटिक साइंटिस्‍ट या फेस रिकग्निशन साफ्टवेयर डेवलपर के रूप में भी यहां करियर विकल्‍प उपलब्‍ध हैं। इसी तरह अगर आप गैर-तकनीकी पृष्‍ठभूमि से हैं और तकनीक में रुचि रखते हैं, तो इससे संबंधित अपनी योग्‍यता बढ़ाकर आप यूआइ/यूएक्‍स डिजाइनर, कंप्‍यूटेशनल लिंगुइस्‍ट कंवर्सेशनल एनालिस्‍ट या फिर टेक्निकल राइटिंग जैसे एरिया में अपना करियर शुरू कर सकते हैं।

कैसे विकसित करें कुशलता: एआइ में अपनी कुशलता आप दो तरह से विकसित कर सकते हैं। अगर आप अभी विद्यार्थी हैं और आगे इसी फील्‍ड में ही करियर बनाना चाहते हैं, तो बारहवीं के बाद स्‍नातक स्‍तर पर गणित या इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना उपयुक्‍त रहेगा। इसके अलावा, इस फील्‍ड में आने के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्‍वेज का ज्ञान होना भी आवश्‍यक है। इसी तरह अगर आप आर्ट स्‍ट्रीम से हैं, तो यूआइ/यूएक्‍स डिजाइनिंग या फिर कंवर्सेशनल डिजाइनिंग में अपनी कुशलता बढ़ा सकते हैं। वैसे, अगर कोर्स की बात करें, तो आटोमेशन या आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस में कोर्स करने के लिए कंप्‍यूटर साइंस, आइटी, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्‍ट्रानिक्‍स और इंस्ट्रूमेंटेशन आदि में डिग्री होना आवश्‍यक है। क्‍योंकि इसी के बाद कुछ स्पेशलाइजेशन कोर्स, जैसे-आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, रोबोटिक्स, एडवांस्‍ड रोबोटिक्स सिस्टम आदि कर सकते हैं। एआइ में इन दिनों कोर्सेरा, उडेमी या मूक जैसे माध्‍यमों से आनलाइन सर्टिफिकेशन भी उपलब्‍ध कराए जा रहे हैं।

आकर्षक सैलरी: एआइ फील्‍ड में आप कितनी कमाई कर सकते हैं?, इसकी कोई सीमा नहीं है। क्‍योंकि देश-विदेश में इसके जानकारों को आजकल करोड़ों में पैकेज मिल रहे हैं। फिर भी शुरुआत में आप 35 से 50 हजार रुपये तक मासिक सैलरी के साथ अपना करियर शुरू कर सकते हैं।

Popular posts
अग्निपथ के खिलाफ प्रदर्शन उग्र, रेल- मेट्रो सेवाओं पर पड़ा असर; सिंकदराबाद में पुलिस फायरिंग में एक की मौत
Image
यूपी के पांच लाख से ज्यादा युवाओं के लिए गुड न्यूज, दो महीने के भीतर मिलेंगे फ्री टैबलेट और स्मार्टफोन
Image
मुलायम सिंह की छोटी बहू व भाजपा नेता अपर्णा यादव को मिली जान से मारने की धमकी, परिवार में मचा हड़कंप
Image
लखीमपुर खीरी मामला: सुप्रीम कोर्ट ने दिया रिटायर्ड हाईकोर्ट जजों की निगरानी में केस की जांच कराने का प्रस्ताव
Image
कानपुर के झकरकटी बस अड्डे पर यात्रियों की नहीं हो रही थर्मल स्कैनिंग, जल्दबाजी में दिखा गाइडलाइन का उल्लंघन
Image