स्वैच्छिक और निश्शुल्क रक्तदान से बचाया जा सकता है लोगों को मौत से, डब्ल्यूएचओ की लोगों से रक्तदान करने की अपील

 

14 जून 2022 को मनाया जा रहा है विश्व रक्तदान दिवस

विश्व रक्तदाता दिवस 202218 से 65 वर्ष के आयु वर्ग में एक नियमित स्वस्थ पुरुष या महिला रक्तदान करने के लिए पात्र है।विश्व रक्तदाता दिवस की पूर्व संध्या पर सोमवार को दक्षिण-पूर्व एशिया और विश्व के अन्य हिस्सों में पात्र लोगों से नियमितस्वैच्छिक और निश्शुल्क रक्तदान करने की अपील की।

नई दिल्ली, प्रेट्र । पूरी दुनिया में 14 जून 2022 को विश्व रक्तदान दिवस मनाया जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने विश्व रक्तदाता दिवस की पूर्व संध्या पर सोमवार को दक्षिण-पूर्व एशिया और विश्व के अन्य हिस्सों में पात्र लोगों से नियमित, स्वैच्छिक और निश्शुल्क रक्तदान करने की अपील की। इसने कहा है कि इससे लोगों की जिंदगी बचाने में सहायता मिलेगी और स्वास्थ्य सेवा में सुधार होगा। भारत विश्व की सबसे बड़ी आबादी वाला देश होने के बावजूद रक्तदान में काफी पीछे है. रक्त की कमी को खत्म करने के लिए विश्व भर में रक्तदान दिवस मनाया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य रक्तदान को प्रोत्साहित करना और उससे जुड़ी भ्रांतियों को दूर करना है।

डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डा पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा कि हर साल अनुमानत: 11.85 करोड़ लोग रक्तदान करते हैं। इनमें लगभग 40 प्रतिशत रक्तदान ऊंची आमदनी वाले देशों में किए जाते हैं, जहां दुनिया की सिर्फ 16 प्रतिशत आबादी निवास करती है। उन्होंने कहा कि कम आमदनी वाले देशों में आम तौर पर पांच साल से कम उम्र के बच्चों को और गर्भावस्था से जुड़ी समस्याओं में खून चढ़ाने की जरूरत पड़ती है। यदि नियमित रूप से स्वैच्छिक और निश्शुल्क रक्तदान किया जाए, तो गर्भवती महिलाओं और बच्चों की मौत से लड़ने में मदद मिलेगी।

रक्तदान न केवल एक विनम्र कार्य माना जाता है बल्कि यह उन लाखों रोगियों के जीवन को बचाने में भी मदद करता है जिन्हें रक्त की आवश्यकता है। इसके अलावा रक्तदान करने से सेहत को भी काफी फायदे होते हैं। आधान के लिए सुरक्षित रक्त और रक्त उत्पादों की आवश्यकता के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए, दुनिया भर में लोग विश्व रक्तदाता दिवस मनाते हैं। यह दिन उन लोगों को भी पुनर्गठित और सम्मानित करता है जो अक्सर रक्त दान करते हैं, अवैतनिक रक्त दाता राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रणालियों को बनाते हैं। यह भी कहा जाता है कि दूसरों की मदद करने का कार्य व्यक्ति के तनाव के स्तर को कम कर सकता है और भावनात्मक कल्याण में सुधार कर सकता है।

कौन सुरक्षित रूप से कर सकता है रक्तदान?

18-65 वर्ष के आयु वर्ग में एक नियमित स्वस्थ पुरुष या महिला रक्तदान करने के लिए पात्र है। हालांकि, व्यक्ति का हीमोग्लोबिन स्तर 12.5 ग्राम प्रतिशत से ऊपर होना चाहिए क्योंकि यह सुरक्षित माना जाता है।

हर तीसरे महीने करें रक्तदान 

रक्तदान करने से शरीर में कोई कमी नहीं आती है. कोई भी स्वस्थ व्यक्ति हर तीसरे महीने रक्तदान कर सकता है।

Popular posts
अग्निपथ के खिलाफ प्रदर्शन उग्र, रेल- मेट्रो सेवाओं पर पड़ा असर; सिंकदराबाद में पुलिस फायरिंग में एक की मौत
Image
यूपी के पांच लाख से ज्यादा युवाओं के लिए गुड न्यूज, दो महीने के भीतर मिलेंगे फ्री टैबलेट और स्मार्टफोन
Image
मुलायम सिंह की छोटी बहू व भाजपा नेता अपर्णा यादव को मिली जान से मारने की धमकी, परिवार में मचा हड़कंप
Image
लखीमपुर खीरी मामला: सुप्रीम कोर्ट ने दिया रिटायर्ड हाईकोर्ट जजों की निगरानी में केस की जांच कराने का प्रस्ताव
Image
कानपुर के झकरकटी बस अड्डे पर यात्रियों की नहीं हो रही थर्मल स्कैनिंग, जल्दबाजी में दिखा गाइडलाइन का उल्लंघन
Image